मुसोलिनी की नातिन ने रोम में जीता चुनाव

दिल्ली

इटली के तानाशाह रहे बेनितो मुसोलिनी की पोती ने रोम की म्यूनिसिपल काउंसिल का चुनाव जीता है. वह अति दक्षिणपंथी ‘ब्रदर्स ऑफ इटली’ पार्टी की सदस्य हैं.तानाशाह बेनितो मुसोलिनी की नातिन रोम काउंसिल में दोबारा पार्षद चुनी गई हैं. 47 वर्षीय रकेले मुसोलिनी शहर की परिषद में सदस्य बने रहने लायक वोट दोबारा जुटा लिए. 3 और 4 अक्टूबर को हुए चुनाव के बाद बुधवार को मतगणना हुई. रकेले मुसोलिनी को 8,200 मत मिले, जो किसी भी अन्य उम्मीदवार से ज्यादा थे. 2016 में वह पहली बार चुनी गई थीं. पिछली बार के मुकाबले उन्हें इस बार 657 मत ज्यादा मिले हैं. रेकेले अति दक्षिणपंथी पार्टी ब्रदर्स ऑफ इटली की सदस्य हैं.

उनके दादा बेनितो मुसोलिनी इटली के तानाशाह रहे थे लेकिन रकेले मानती हैं कि वह अपने नाम की वजह से नहीं बल्कि काम की वजह से जीती हैं. ‘नाम नहीं काम की जीत' ला रिपब्लिका अखबार को मुसोलिनी ने बताया कि अपने नाम से जुड़े इतिहास और उसके दबाव से उनका कोई लेना देना नहीं है. उन्होंने कहा कि उनके बहुत सारे वामपंथी मित्र हैं. मुसोलिनी ने कहा, "अब तक मेरा इंटरव्यू सिर्फ मेरे नाम की वजह से होता रहा है. मेरे पिछले कार्यकाल में लोग मेरे काम के बारे में, काउंसिल में मेरे द्वारा उठाए गए कदमों के बारे में पूछने लगे. मैंने मेहनत की है.” मुसोलिनी कहती हैं कि अपने उप नाम के साथ जुड़े दबाव के बारे में उन्हें बचपन से ही पता है. उन्होंने बताया, "मैंने अपने नाम के साथ जीना बचपन में ही सीख लिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *