एक्शन में सरकार, अमित शाह आज उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से कर सकते हैं मुलाकात

नई दिल्ली
बीते कई दिनों से कश्मीर में हो रही टारगेट किलिंग पर अब सरकार एक्शन में आ गई है. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा को दिल्ली बुलाया है जहां वे इन हत्याओं को लेकर बातचीत कर सकते हैं. समाचार एजेंसी एनएनाई ने सरकारी सूत्रों के हवाले से यह खबर दी है। यह बैठक शनिवार दो दिन के दूसरे हिस्से में होगी। माना जा रहा है कि शाह मनोज सिन्हा से घाटी में हो रही टारगेट किलिंग को लेकर चर्चा करेंगे।

गृह मंत्री जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल के साथ सुरक्षा परिदृश्य और घाटी में निर्दोष लोगों के खिलाफ अपराध से जुड़े अन्य मुद्दों पर चर्चा करेंगे। बता दें कि गुरुवार को आतंकवादियों ने एक सरकारी स्कूल में घुसकर एक प्रिंसिपल और एक शिक्षक को मार गिराया। कश्मीर में टारगेट किलिंग की यह ताजा घटना है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गुरुवार को कश्मीर में सुरक्षा की स्थिति की समीक्षा की। बड़े अधिकारियों के साथ शाह की यह बैठक करीब घंटे भर तक चली, जिसमें गृह मंत्री को केंद्र शासित प्रदेश और सीमावर्ती इलाकों की संपूर्ण सुरक्षा स्थिति से अवगत कराया। 

बता दें कि अब गृह मंत्री के गुजरात से राष्ट्रीय राजधानी लौटने के तुरंत बाद उनकी मनोज सिन्हा के साथ बैठक होगी। अमित शाह कुछ आधिकारिक और पार्टी मामलों से जुड़े मामलों के लिए शुक्रवार एक दिवसीय यात्रा पर गुजरात गए थे। एलजी मनोज सिन्हा के भी आज सुबह दिल्ली पहुंचने की उम्मीद है। बैठक टारगेट किलिंग की घटनाओं के दो दिन बाद निर्धारित की गई है। 
 
गृह मंत्री ने अपने कार्यालय में लगभग तीन घंटे की बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, गृह सचिव अजय भल्ला, खुफिया ब्यूरो के निदेशक अरविंद कुमार, सीमा सुरक्षा की उपस्थिति में कश्मीर में टारगेट किलिंग की घटनाओं और आगे की कार्रवाई के लिए रोडमैप की भी समीक्षा की थी। महानिदेशक पंकज सिंह, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के प्रमुख कुलदीप सिंह और गृह मंत्रालय के अन्य अधिकारी भी इस मीटिंग में मौजूद थे। श्रीनगर के ईदगाह इलाके के गवर्नमेंट बॉयज हायर सेकेंडरी स्कूल में घुसे आतंकवादियों ने प्रिंसिपल और शिक्षक को करीब से गोली मार दी। इससे पहले मंगलवार को हुए हमलों में तीन लोग मारे गए थे और पिछले पांच दिनों में कश्मीर में हुए आतंकी हमलों में सात लोगों के मारे जा चुके हैं। टारगेट किलिंग की इन घटनाओं को का लोगों ने शुक्रवर को जुलूस निकालकर विरोध किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *