अगर आप खुद को हेल्दी और फिट रखना चाहते हैं, तो इस खतरनाक आदत से बिल्कुल दूर रहें

शरीर को स्वस्थ रखना बहुत ही जरूरी है, वरना कई खतरनाक बीमारियां मुसीबत खड़ी कर देती हैं. एक्सपर्ट्स का कहना है कि जिन लोगों को एक्सरसाइज नहीं करने की आदत होती है, उनका दिल और शरीर एकदम कमजोर हो जाता है. तनावग्रस्त और भागदौड़ भरी जिंदगी में लोगों ने व्यायाम करना बिल्कुल छोड़ दिया है. जिसका नतीजा कई गंभीर बीमारियों के रूप में भुगतना पड़ सकता है.

एक्सपर्ट्स के मुताबिक एक्सरसाइज ना करने पर शरीर का रक्त प्रवाह बाधित होता है. जिसके कारण शरीर में ऑक्सीजन और पोषण की कमी हो सकती है. इसके साथ ही व्यक्ति को हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, तनाव, डिप्रेशन, शारीरिक दर्द आदि की समस्या भी हो सकती है. आइए अन्य शारीरिक दिक्कतों के बारे में जानते हैं.

दिल कमजोर होना
दिल हमारे शरीर के सभी अंगों को स्वस्थ खून प्रदान करने का कार्य करता है. अगर इसका कार्य बाधित होता है, तो शरीर पर बुरा असर पड़ता है. NCBI की रिपोर्ट के मुताबिक, जो लोग रोजाना कार्डियो या एरोबिक एक्सरसाइज करते हैं, उनका दिल ज्यादा स्वस्थ होता है और दिल के रोगों का खतरा कम होता है.

मसल्स कमजोर होना
मसल्स यानी मांसपेशियां कमजोर होने पर शारीरिक गतिविधि करना काफी मुश्किल हो जाता है. मसल्स को मजबूत बनाए रखने के लिए उनमें फ्लैक्सिबिलिटी और मॉबिलिटी रखना बहुत जरूरी है. एक्सरसाइज ना करने से मसल्स का ना सिर्फ लचीलापन और मुड़ने की क्षमता कम होती है, बल्कि उनमें आ रहा रक्त प्रवाह भी कम हो जाता है.

स्टैमिना और सहनशक्ति कम होना
जिन लोगों में एक्सरसाइज नहीं करने की आदत होती है. उनके शरीर में स्टैमिना और सहनशक्ति की कमी होती है. जिसके कारण छोटा-मोटा काम करने में सांस फूलना, थक जाना जैसी दिक्कतें होने लगती हैं.

नींद ना आना
एक्सरसाइज ना करने की आदत आपकी नींद भी प्रभावित कर सकती है. जिससे शरीर खुद को रिपेयर व रिफ्रेश नहीं कर पाता है और तनाव व चिड़चिड़ेपन में बढ़ोतरी हो सकती है. एक्सरसाइज करने से शरीर को थकावट महसूस होती है और शरीर दिमाग को आराम करने का संकेत भेजता है. जिससे आपको जल्दी नींद आ जाती है.

आदत में क्या करें बदलाव
एक्सपर्ट्स के मुताबिक, एक्सरसाइज का मतलब जिम में भारी-भरकम वजन उठाना ही नहीं है. बल्कि आपको रोजाना 20-30 मिनट शारीरिक गतिविधि करनी चाहिए. जिसमें कम से कम जॉगिंग, वॉकिंग, योगा, गहरी सांस लेना, स्ट्रेचिंग आदि एक्सरसाइज का मिश्रण होना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *