काम में लापरवाही स्टाफ नर्स सस्पेंड, 4 डॉक्टरों को नोटिस

उमरिया
 कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव ने जिला अस्पताल मे चिकित्सा अधिकारी के पद पर पदस्थ चार डाक्टरों (डॉ. मुकुल तिवारी, डॉ. ऋषभ रहंगडाले, डॉ. ऋचा गुप्ता एवं डॉ. रश्मि धनंजय) को कारण बताओ नोटिस जारी किया है, वहीं स्टाफ नर्स ऋतु शुक्ला को निलंबित कर दिया गया है। स्टाफ नर्स पर आरोप है कि उन्होंने प्रसव के लिए आई गर्भवती महिला को डॉक्टर के परामर्श के बिना ही रेफर कर दिया।

बताया गया है कि विगत दिनो कलेक्टर द्वारा अस्पताल का निरीक्षण किया गया था। इस दौरान डॉ. मुकुल तिवारी, डॉ. ऋषभ रहंगडाले तथा डॉ. ऋचा गुप्ता ओपीडी मे नहीं पाये गये जबकि डॉ. रश्मि धनंजय पर रात्रि मे आई मरीज का इलाज न करने और स्टाफ नर्स द्वारा उसे रिफर करने का आरोप है। सभी डाक्टरों को तीन दिनो मे अपना स्पष्टीकरण देने का निर्देश दिया गया है।

इसी तरह रितु शुक्ला नर्स कार्यालय सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक को कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव ने प्रसव हेतु आने वाली महिला को बिना चिकित्सक को दिखाये सीधे हायर सेंटर के लिए रेफर करने पर मप्र सिविल सेवा नियम के तहत निलंबित कर दिया गया है। निलंबन अवधि में उनका मुख्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय नियत किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *