एलआईसी प्रीमियम का भुगातन पीएफ खाते से भी करना मुमकिन, इस तरह मिलती है सुविधा

नई दिल्ली।
जीवन बीमा पॉलिसी का प्रीमियम समय से नहीं भरने पर बीमा कवर खत्म होने का खतरा रहता है, जिससे क्लेम मिलने में परेशानी आ सकती है। हालांकि, आपके पास भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) की पॉलिसी है तो आप कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) खाते से भी उसका प्रीमियम भर सकते हैं। ईपीएफओ ने इसकी कुछ शर्तों के साथ इसकी सुविधा दे रखी है।

टैक्स सलाहकार के.सी.गोदुका का कहना है कि जीवन बीमा पॉलिसी और ईपीएफ दोनों बेहद अहम हैं। इन दोनों में निवेश पर धारा 80सी के तहत टैक्स छूट मिलती है। ऐसे में बेहद मुश्किल वक्त में ही ईपीएफ से एलआईसी का प्रीमियम भरने का विकल्प चुनना चाहिए।

इस तरह मिलती है सुविधा

सबसे पहली शर्त यह है कि आपके ईपीएफ खाते में कम से कम एलआईसी के दो साल के प्रीमियम के बराबर राशि होनी चाहिए। इसके बाद आपको ईपीएफ और एलआईसी पॉलिसी नंबर को लिंक कराना होता है। इसके लिए ईपीएफओ को फॉर्म 14 भरकर देना होता है। यह एक तरह का अनुमति पत्र है जिसमें आपकी ओर से ईपीएफओ को एलआईसी का प्रीमियम भरने की सहमति दी जाती है। इसके बाद एलआईसी प्रीमियम तय समय पर आपके ईपीएफ खाते से कट जाता है।

इन बातों का ख्याल रखें

इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि ईपीएफओ की यह सुविधा सिर्फ एलआईसी के प्रीमियम के भुगतान पर ही उपलब्ध है। किसी दूसरी बीमा कंपनी के प्रीमियम के भुगतान के लिए इसका इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। साथ ही यह सुविधा केवल सालाना प्रीमियम वाली पॉलिसी पर ही मिलती है तिमाही या छमाही प्रीमियम पर नहीं मिलती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *