भोपाल-ग्वालियर-जबलपुर को सीधी हवाई यात्रा जोड़ने की कवायद शुरू

भोपाल
जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट ने केंद्रीय नागरिक विमानन  मंत्री को पत्र लिखकर भोपाल-ग्वालियर-जबलपुर हवाई सेवा शुरू करने की मांग की है। सिलावट ने केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से भेंट कर, अपने प्रभार जिले ग्वालियर को राजधानी भोपाल से सीधी फ्लाइट से जोड़ने का आग्रह किया। इस दौरान ग्वालियर, जबलपुर हवाई अड्डा के विकास के सम्बन्ध में विभिन्न विषयों पर चर्चा भी की। जल संसाधन मंत्री ने बताया कि ग्वालियर-भोपाल व भोपाल-ग्वालियर एवं ग्वालियर-भोपाल-जबलपुर तथा जबलपुर-भोपाल-ग्वालियर के लिए लिए हवाई सेवा शुरु करने से जनसामान्य के साथ-साथ व्यावसायिक वर्ग को काफी फायदा होगा।

भोपाल, ग्वालियर और जबलपुर को सीधी फ्लाइट से जोड़ने की मांग
जल संसाधन मंत्री सिलावट ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के नागरिक उड्डयन मंत्री बनने के बाद मध्यप्रदेश को अनेक सुविधाएं मिली हैं। इसी क्रम में भोपाल, ग्वालियर और जबलपुर को सीधी फ्लाइट से जोड़ने के लिए पत्र लिखकर अनुरोध किया है।

उन्होंने बताया कि भोपाल और ग्वालियर दोनों ही औद्योगिक नगरी है, तथा भोपाल राजधानी होने से सभी शासकीय मुख्यालय यहाँ है। वहीं ग्वालियर में एजी.एमपी. हाईकोर्ट, भू-अभिलेख कार्यालय, आबकारी विभाग का मुख्यालय होने से यहां आने-जाने वाले आमजन, शासकीय अधिकारियों और व्यवसायी वर्ग की संख्या अधिक है। उन्होंने कहा कि इन दोनों शहरों के बीच हवाई यात्रा शुरू होने से एयरलाइन्स कंपनियों को भी लाभ होगा।

जबलपुरवासियों को भी मिलेगा लाभ
जल संसाधन मंत्री ने कहा कि जबलपुर हमारे प्रदेश का बड़ा शहर है और वहां एयरपोर्ट भी संचालित है। उन्होंने कहा कि सांस्कृतिक राजधानी जबलपुर में विद्युत विभाग तथा हाईकोर्ट की मुख्य खण्डपीठ स्थित होने से भोपाल-जबलपुर के मध्य भी हवाई सुविधा की अत्यंत आवश्यकता है। इन शहरों के बीच हवाई सेवा शुरू होने से हाई कोर्ट आने-जाने वालों के साथ-साथ शहरवासियों का भी समय बचेगा। इससे आमजन, व्यवसायी वर्ग और अधिकारियों को भी लाभ होगा। उन्होंने बताया कि नगर विमानन मंत्रालय द्वारा क्षेत्रीय हवाई संपर्क योजना के तहत इन शहरों को सीधी हवाई सेवा से जोड़ना ग्वालियर और जबलपुर के लिए काफी फायदेमंद साबित होगा। मंत्री सिलावट ने कहा कि उड़ान योजना का उद्देश्य ‘उड़े देश का आम नागरिक’ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *