बाड़मेर में सौ बेड का कोविड डेडिकेटेड हॉस्पिटल एवं सभी सीएचसी पर अतिरिक्त बेड रिर्जव रखने के दिये निर्देश

जयपुर
श्रम विभाग एवं बाड़मेर जिले के प्रभारी मंत्री सुखराम विश्नोई ने रविवार को कलेक्ट्रेट सभागार में कोरोना की तीसरी लहर की तैयारियों की विस्तृत समीक्षा की। इस दौरान विधायक मेवाराम जैन भी मौजूद रहे।

इस मौके पर प्रभारी मंत्री बिश्नोई ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर की त्वरित गति के मध्यनजर सभी आवश्यक चिकित्सा प्रबंध समय रहते सुनिश्चित कर लिए जाए। उन्होंने जिला मुख्यालय पर मेडिकल कॉलेज से संलग्न चिकित्सालय के अलावा 100 बेड का डेडीकेटेड हॉस्पिटल भी पृथक से तैयार रखने को कहा। साथ ही सभी ब्लॉक मुख्यालयो पर स्थान चिनिहत करके रखने को कहा।

प्रभारी मंत्री ने जिले के सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रो, सीएचसी पर कोरोना के लिए ऑक्सीजन बेड अलग से उपलब्ध रखने की भी हिदायत दी। उन्होंने जिले के सभी चिकित्सा संस्थानों में निर्मित ऑक्सीजन प्लांट के चालू हालत में होने तथा उनकी निर्धारित क्षमता के अनुसार ऑक्सीजन उत्पादन को भी तैयार रखने के निर्देश दिए।

श्री विश्नोई ने जिले में बाहर से आने वाले सभी लोगों की कोरोना जांच करने, निश्चित समय तक आइसोलेशन के भी निर्देश दिए। साथ ही जिले में लोगों के कोविड उपयुक्त व्यवहार के लिए सख्ती करने को कहा। उन्होंने लोगों से मास्क के प्रयोग, सेनिटाइजेशन, सोशल डिस्टेंस तथा कोरोना के टीकाकरण के लिए जागरूक करने एवं सभी जगह माइक पब्लिसिटी करने को कहा। प्रभारी मंत्री ने शत-प्रतिशत डबल डोज वैक्सीनेशन के लिए जिला कलेक्टर को सटीक और प्रभावी रणनीति बनाने के निर्देश दिए।

इस मौके पर विधायक मेवाराम जैन ने कहा की कोरोना की दूसरी लहर में सीमावर्ती बाड़मेर जिले में कम मानवीय संसाधनों के बावजूद बेहतरीन चिकित्सा प्रबंध किए गए जिसकी बदौलत सैकड़ों लोगों की जिंदगी बचाई जा सकी। उन्होंने सर्वश्रेष्ठ कार्य के लिए जिला प्रशासन एवं चिकित्सा प्रबंधन की सराहना करते हुए तीसरी लहर में भी इसी भावना से कार्य करने को कहा।

इस अवसर पर बीसूका उपाध्यक्ष फतेह खान ने कहा कि कोरोनों के संक्रमण के दौरान मानव जीवन को बचाना बड़ी चुनौती थी, जिसे बेहतर प्रबंधन एवं चिकित्सा सुविधाओं तथा दानदाताओं, भामाशाहों, स्वयं सेवी संगठनों, जनप्रतिनिधियों के सहयोग से आसान किया गया। यही काम आगे भी होना चाहिए।

इससे पूर्व जिला कलेक्टर लोक बंधु ने तीसरी लहर की तैयारियों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि यूटीबी आधार पर भर्ती चिकित्सा कर्मियों की ग्रामीण क्षेत्रों में नियुक्त के साथ ही स्वास्थ्य ढाँचे को भी मजबूत किया गया हैं। वही चिकित्सा संस्थानो में ऑक्सीजन प्लांट तैयार कर लिए गए हैं।

बैठक में पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव, उपवन सरंक्षक संजय भादू, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ बी एल विश्नोई समेत जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *