UP के BJP सांसद की तारीफ कर राहुल गांधी ने कसा तंज, कमलेश पासवान ने यूं किया पलटवार

 नई दिल्ली

लोकसभा में बुधवार को राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा में हिस्सा लेते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और केरल के वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर घेरा। इस दौरान एक मौका ऐसा भी आया जब राहुल गांधी ने यूपी के बीजेपी सांसद कमलेश पासवान की दलितों की आवाज उठाने को लेकर तारीफ की, लेकिन यह कहकर तंज भी कसा कि वह गलत पार्टी में हैं। राहुल का भाषण खत्म होने के बाद कमलेश पासवान ने राहुल गांधी पर पलटवार किया।

राहुल गांधी ने भाषण के दौरान उत्तर प्रदेश के बांसगांव सीट (गोरखपुर) से बीजेपी सांसद कमलेश पासवान की ओर इशारा करते हुए कहा, ''आज मैंने देखा कि मेरे दलित सहयोगी बोले, पासवान जी, मैंने उन्हें देखा। वह दलितों का इतिहास जानते हैं। वह जानते हैं कि दलितों को 3 हजार साल तक किसने दबाया। वह संकोच के साथ बोल रहे हैं। मुझे उनपर गर्व है। उन्होंने मुझसे कहा कि उनके दिल में क्या है। मुझे इस व्यक्ति पर गर्व है। लेकिन वह गलत पार्टी में हैं।'' अपने नाम का जिक्र किए जाने पर कमलेश पासवान खड़े हो गए और राहुल गांधी को जवाब देना चाहा। लेकिन स्पीकर ने उन्हें राहुल का भाषण खत्म होने तक इंतजार करने को कहा।

राहुल गांधी ने अपने भाषण में पूर्व प्रधानमंत्री और अपनी दादी इंदिरा गांधी, पिता और पूर्व पीएम राजीव गांधी की हत्या का भी जिक्र किया। राहुल गांधी का भाषण खत्म होते ही कमलेश पासवान खड़े हुए और राहुल गांधी को जवाब दिया। उन्होंने कहा, ''राहुल भाई ने अपने भाषण में मेरा नाम लिया, दलित कहकर मुझे, कहा कि मैं गलत पार्टी में हूं। मैं इन्हें बताना चाहता हूं कि आपकी, आपकी दादी और पिता, कांग्रेस की नीति रही है, हमारे समाज में फूट डालो राज करो। पूरे देश की जनता समझ गई है, इसलिए यह हाल हो गया है कि मेरे जैसे एक छोटे से सांसद कहां बांसगांव कहां राहुल गांधी कमलेश पासवान की बात कर रहे हैं।''
 

उन्होंने आगे कहा, ''मैं सौभाग्यशाली हूं कि जिस पार्टी में हूं, मेरी पार्टी ने मुझे तीन बार सांसद बनाया, मेरी पहचान हैं, दो बार विधायक रहा हूं, तीन बार का सांसद हूं, इससे ज्यादा मुझे क्या चाहिए। इन्होंने कहा कि मेरे पिता जी मारे गए हैं, मेरे भी पिताजी रैली में मारे गए हैं, मैं भी जानता हूं दर्द को इस देश को और क्षेत्र की सभी चीजों की। मैं हैसियत नहीं कहूंगा लेकिन इनके बस की बात नहीं है कि कमलेश पासवान को अपनी पार्टी में लाकर मुझे खुश कर सकें।''

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *