माशिमं को मूल्यांकनकर्ताओं कमी से परेशान

जबलपुर
 माध्यमिक शिक्षा मंडल की बोर्ड परीक्षाओं के साथ ही अब कॉपियों के मूल्यांकन की तैयारी भी शुरू हो चुकी है। जिस अनुपात में विषय शिक्षकों की जबलपुर जिले में आवश्यकता है वह अभी तक पूरी नहीं हो सकी है। कॉपियों की जांच के लिए 1400 से 1500 शिक्षकों की आवश्यकता होती है। जिसमें से अभी तक करीब 1000 शिक्षक ही रजिस्टर्ड हो पाए हैं। शिक्षकों की कमी को लेकर शिक्षा विभाग के अधिकारी भी परेशान हैं।

इस बार आएंगी दोगुनी कॉपियां
बोर्ड परीक्षा में इस बार कॉपियों की संख्या ज्यादा होगी। इसे देखते हुए माशिमं भी विषय शिक्षकों की पहले से तैनाती पर जोर दे रहा है। कोरोना संक्रमण के चलते पिछले साल बिना परीक्षा दिए ही सौ फीसदी छात्र सीधे 10वीं एवं 12वीं की कक्षाओं में पहुंच गए हैं। जिले में ही करीब इस बार 10 हजार छात्रों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है। ऐसे में जिले में करीब 4 लाख तक कापियां आने की संभावना है।

कई विषयों की जरूरत
बताया जाता है अंग्रेजी, गणित, फिजिक्स, एग्रीकल्चर, न्यूट्रीशन एंड टैक्सटाइल, साइकोलॉजी, एनाटामी फिजियोलॉजी, हार्टीकल्चर, बुक कीपिंग एंड एकाउटेंसी जैसे विषयों के विषय विशेषज्ञ शिक्षक अभी कम संख्या में उपलब्ध हुए हैं।

पांच मार्च से होनी है शुरुआत
मूल्यांकन का फस्र्ट राउंड पांच मार्च से शुरू होना है जो कि करीब 20 दिन चलेगा। 28 फरवरी तक हो चुके दसवीं एवं बारहवीं कक्षा के प्रश्न पत्रों की जांच की जाएगी। माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा 2 मार्च के बाद जिले में कॉपियों की आपूर्ति की जाएगी। पहले दौर में 2 से 3 लाख कॉपियां आने की संभावना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *