2 समुदायों में हिंसा भड़की, इंटरनेट सेवाएं बंद, CM अशोक गहलोत ने कहा- शांति बनाए रखें

जोधपुर

महाराष्ट्र से उठा लाउडस्पीकर का विवाद राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के गृह जिले जोधपुर में पहुंच गया है। जोधपुर के जालोरी गेट चोराहे पर देर रात लाउडस्पीकर वह झंडे हटाने को लेकर दो पक्षों के बीच पथराव हो गया। दोनों ओर से हो रहे पथराव के बीच डीसीपी ,एसएचओ सहित कई लोग घायल हुए हैं। आधे घंटे पथराव के बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किये तथा आंसूगैस के गोले भी दागे। उधर जिला कलक्टर ने जोधपुर में इंटरनेट सेवा को अनिश्चित काल के लिए बंद करने का आदेश दिया है।

दरसअल जोधपुर शहर में देर रात लाउडस्पीकर ओर झंडे हटाने को लेकर विवाद हो गया। शहर के जालोरी गेट चोराहे पर लगे लाउडस्पीकर ओर धार्मिक झंडे को हटाने को लेकर रात साढ़े 11 बजे दो पक्षों के बीच बहस हो गई। इस बीच देखते ही देखते दो पक्षों की बहस पथराव में बदल गई। जालोरी गेट चोराहे के दोनों छोर से पथराव शुरू हो गये। जिसके बाद जोधपुर पुलिस ने भारी जाब्ता तैनात कर मामले को शांत करने का प्रयास किया। लेकिन आधे घंटे तक पथराव बंद नहीं होने पर पुलिस ने लाठीचार्ज शुरू कर दिया। लाठीचार्ज के बाद भी पथराव करने वाले नही रुके तो पुलिस ने आंसूगैस के गोले दाग भीड़ को खदेड़ दिया। शहर में देर रात हुए पथराव में डीसीपी भुवन भूषण यादव, एसएचओ अमित सियाग सहित दो कॉन्स्टेबल घायल हो गए। इन सब के बीच जोधपुर ज़िला कलक्टर हिमांशु गुप्ता ने जोधपुर में इंटरनेट सेवा को अनिश्चित काल के लिए बंद करने के आदेश जारी कर दिए

महापौर, विधायक का पुलिस पर आरोप
देर रात पुलिस के लाठीचार्ज के बाद सूरसागर विधायक सूर्यकांता व्यास और महापौर विनीता सेठ घटना स्थल पर पहुंची। जालोरी गेट पुलिस चौकी के बाहर बैठ दोनों ने पुलिस द्वारा किए गए एक पक्ष पर लाठीचार्ज का विरोध जताया। विधायक सूर्यकांता व्यास ने कहा कि पथराव दोनों पक्षो की ओर से हो रहा था। तो पुलिस ने एक पक्ष पर ही क्यों लाठीचार्ज किया। उन्होंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से इस मामले की जांच कर दोषियों पर कार्यवाही की मांग रखी है।

जोधपुर में इंटरनेट सेवा बंद करने के आदेश
जोधपुर शहर में देर रात पथराव की घटना के बाद रात दो बजे जिला कलक्टर हिमांशु गुप्ता ने शहर में इंटरनेट सेवा बंद करने के आदेश जारी कर दिए। मंगलवार एक बजे से अनिश्चित काल के लिए इंटरनेट सेवा बंद कर करने के आदेश दिए हैं। साथ ही पुलिस ने सवेदनशील क्षेत्रों व घटना स्थल पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।

सीसीटीवी, मोबाइल फुटेज से जांच शुरू
जालौरी गेट पर लाउडस्पीकर, झंडे हटाने को लेकर हुई हिंसा पर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। पुलिस कमिश्नर नवज्योति गोगोई ने कहा कि घटना स्थल पर लगे सीसीटीवी कैमरों ओर मौके पर दोनों पक्षों की ओर से बनाए गए मोबाइल वीडियो से जांच की जा रही है। साथ ही पथराव किसने शुरू किया और पथराव वह तोड़फोड़ करने वाले लोगों की पहचान कर उनकी गिरफ्तारी करने का प्रयास किये जा रहे हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *