गुना हत्याकांड: पुलिस पर हमला करने वाला तीसरा शिकारी भी मुठभेड़ में ढ़ेर, 4 फरार

गुना
गुना में शनिवार तड़के पुलिस और शिकारियों के बीच हुई मुठभेड़ में तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी. मामले में सख्ती दिखाते हुए पुलिस और प्रशासन ने कार्रवाई तेज करते हुए 2 शिकारियों को एनकाउंटर में मार गिराया है. दूसरे आरोपी को शाम 6 बजे के करीब और तीसरे शिकारी को रात 9 बजे पुलिस ने ढ़ेर कर दिया. अन्य फरार 4 आरोपियों की तलाश में पुलिस पार्टियां जंगल में सर्चिंग कर रही हैं. आरोपी आरोन के पास ही पहाड़ियों में छुपे हुए थे. पुलिस ने आरोन में ही उन्हें मार गिराया है.

गुना कांड पर सख्त कार्रवाई करते हुए पुलिस ने 3 मुख्य आरोपियों को मार गिराया है. एक आरोपी मुठभेड़ के दौरान ही मारा गया था. जिसके बाद शाम करीब 6 बजे के करीब दूसरे और शाम 9 बजे के करीब तीसरे आरोपी को भी पुलिस ने ढ़ेर कर दिया है. गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि फरार अन्य 4 आरोपियों की भी तलाश के लिए सर्चिंग पार्टियां अभी जंगल में ही मौजूद हैं. दूसरी तरफ प्रशासन ने भी मामले में 3 मुख्य आरोपियों के घरों को बुलडोजर से तोड़ दिया है. गृहमंत्री ने बताया कि आरोपी आरोन के पास ही पहाड़ियों में छिपे हुए थे. जहां मुठभेड़ में उन्हें मार गिराया गया है.

यह है पूरा मामला
शनिवार तड़के 2:45 बजे पुलिस और शिकारियों के बीच मुठभेड़ में तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो गई. घटना की सूचना पर आला अधिकारी समेत तीन थानों का पुलिस बल मौके पर पहुंचा. पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. इसके साथ ही एक घायल ड्राइवर को जिला अस्पताल में भर्ती कराया है, जहां उपचार जारी है. घटना स्थल से काले हिरण के शव भी बरामद हुए हैं. मुठभेड़ के दौरान एक आरोपी मारा गया था वहीं दूसरे आरोपी को भी पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया है.

मामले पर राजनीति भी जोरों पर
बीजेपी नेता मह्रेंद्र सिसोदिया ने पुलिस पर हमला करने वाले आरोपियों का दिग्विजय सिंह के बेटे जयवर्धन सिंह और राघौगढ़ किले से उन्हें संरक्षण दिए जाने का आरोप लगाया है. इसके जवाब में कांग्रेस ने आरोपियों के साथ बीजेपी नेताओं का फोटो ट्वीट किया है. कांग्रेस ने पुलिस पर हमला करने वाले आरोपियों को बीजेपी नेताओं का करीबी बताया है.

चार काले हिरण के शव मिले
मिली जानकारी के मुताबिक, आरोन थाना क्षेत्र अंतर्गत पुलिस को काले हिरण का शिकार करके ले जाने की सूचना मिली थी. सूचना पर पुलिस गुना शहरोक के जंगलों में पहुंची. वहां पुलिस और बदमाशों के बीच आमना-सामना हुआ और गोलीबारी में एक सब इंस्पेक्टर, एक दीवान और एक आरक्षक की मौत हो गई. पुलिस और शिकारियों में बरखेड़ा और सपा बरखेड़ा के बीच फायरिंग हुई. घटनाक्रम जिस जगह पर हुआ उस जगह पर बदमाशों द्वारा छोड़े गए 3-4 काले हिरण भी मृत अवस्था में पाए गए. इसके साथ ही कुछ अवशेष मोर के मिले हैं.

शादी में आने वाले मेहमानों की दावत के लिए हुआ शिकार
पुलिस को छानबीन के दौरान इस बात की जानकारी मिली है कि घटना को अंजाम देने वाले आरोपियों के परिवार में शादी थी. इसमें आने वाले मेहमानों की दावत के लिए काले हिरण और मोर का शिकार किया गया था. पुलिस ने मौके से ब्लैकबग के शव भी बरामद किए हैं.

मृत आरोपी नौशाद के घर पर चला बुलडोजर
गुना कांड पर सख्ती दिखाते हुए पुलिस और प्रशासन ने आरोपियों के घरों पर बुलडोजर चला कर उन्हें जमींदोज कर दिया है. मामले में 3 मुख्य आरोपी बताए जा रहे हैं जिनके घरों को तोड़ दिया गया है. मुठभेड़ में मृत आरोपी नौशाद के घर को भी बुलडोजर चला कर तोड़ दिया गया है. इसी घर में नौशाद के शव को छुपाकर रखा गया था. दो अन्य आरोपियों के घर भी तोड़े जाने की कार्रवाई जारी है. आरोपियों की गिरफ्तारी से पहले प्रशासन ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया है. इस दौरान मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल और अपर कलेक्टर, एसपी और तहसीलदार भी मौजूद रहे. इसके अलावा बदमाशों की तलाश में 12 थानों का पुलिस फोर्स जंगल में सर्चिग कर रहा है. वहीं सीएम शिवराज ने मामले पर सख्ती दिखाते हुए ग्वालियर आईजी को तत्काल हटाने के निर्देश जारी किए हैं.

मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने व्यक्त की संवेदनाएं
तीन पुलिसकर्मियों की मौत की सूचना पर एसपी समेत पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे. बदमाश कौन थे ? इस विषय में पुलिस चुप्पी साधे हुए हैं. मुठभेड़ में SI राजकुमार जाटव, आरक्षक नीरज भार्गव और आरक्षक संतराम की मौत हुई है. मृतकों एक शिवपुरी और दो ग्वालियर के बताए जा रहे हैं. पुलिस ने मृतक पुलिसकर्मियों के परिजनों को सूचना दे दी है. वहीं मृतकों की सूचना मिलने पर परिजनों में कोहराम मचा हुआ है. पुलिस मामले की जांच में जुट गई है. वहीं प्रभारी मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने घटना पर संवेदना प्रकट की. उन्होंने कहा कि आरोन की इस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी और दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *