Rajasthan: माता-पिता का खूनी खेल, सौतेली मां ने बेटे को पानी के टैंक में उलटा लटकाया, मरने तक नहीं छोड़ा

जयपुर.

आठ साल के यश की मां की मौत कई साल पहले हो गई। कुछ साल बाद उसके पिता ने दूसरी शादी कर ली। मासूम यश को दूसरी मां मिल गई, लेकिन उस सौतेली मां का व्यवहार उसे पसंद नहीं आया। इसे लेकर वह अपने पिता के शिकायत करता था, जिससे पति-पत्नी के बीच लड़ाई झगड़े होते थे और यही झगड़े मासूम यश की मौत की वजह बन गए।

पति ने पत्नी से कह दिया कि उसे (यश) मार दे, बाकी मैं देख लूंगा। दोनों पति-पत्नी ने मिलकर मासूम की हत्या की योजना बनाई। सौतेली मां ने मासूम यश को पानी से भरे टैंक में उलटा लटकाया और तब तक लटकाए रखा जब तक वह मर नहीं गिया। इस दिल झकझोर देने वाले हत्याकांड में पुलिस ने आरोपी माता-पिता को गिरफ्तार कर लिया है।

मामा ने दर्ज कराया था हत्या का केस
दरअसल, यह दिल दहला देने वाला मामला डीग जिले के सदर थाना क्षेत्र के बरौली चौथ गांव का है। मृतक यश के मामा संतोष सिंह ने थाने में भांजे की हत्या का केस दर्ज कराया था। अपनी शिकायत में उसने सौतेली मां रमा और पिता दीवान सिंह पर यश की हत्या करने का आरोप लगाया था। हत्या के बाद से आरोपी मां फरार थी। जिसकी गिरफ्तारी के लिए एक टीम का गठन किया गया था। हत्याकांड के 24 घंटे में पुलिस ने आरोपी मां को आगरा से गिरफ्तार किया। उससे पूछताछ में पति दीवान की भूमिका भी सामने आई, जिसके बाद पुलिस ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में आरोपी ने इस दिल दहला देने वाले हत्याकांड का खुलासा किया।

पहले पति से रमा का हो चुका था तलाक
पुलिस पूछताछ में आरोपी रमा ने बताया कि 2020 में उसका पति से तलाक हो गया था। वह एक बेटी की मां थी, जो उसके पति के साथ रहती थी। दीवान सिंह गाड़ी चलाने का काम करता था, 2021 में दोनों के बीच बातचीत शुरू हुई। दीवान ने उसे बताया कि 2016 में उसकी पत्नी की मौत हो गई थी। दोनों अकेले हैं, ऐसे में हम शादी कर लेते हैं। रमा दीवान से शादी करने के लिए तैयार थी, लेकिन उसने उसके सामने दो शर्त रखीं, एक यह कि वह मोबाइल फोन रखेगी और दूसरी यह कि वह अपनी बेटी से भी मिलने जाया करेगी। दीवान ने उसकी दोनों शर्त मान लीं, और 2021 में कोर्ट मैरिज कर ली।

शादी से पहले रमा ने रखी थी दो शर्तें
दोनों की शादी के कुछ महीने बाद तक चीजें ठीक रहीं, लेकिन बाद में यश की वजह से लड़ाई झगड़े होने लगे। सौतेली मां रमा कहीं जाती तो यश अपने पिता को इसकी जानकारी दे देता था, यश ने मां रमा के ज्यादा फोन चलाने की शिकायत पिता से की तो उसने पत्नी के साथ मारपीट की। कई बार रमा ने भी यश की शिकायत कर उसे पिटवाया। यश को लेकर लगातार हो रहे झगड़ों से परेशान होकर दोनों ने उसे मारने की योजना बना ली। दीवान ने रमा से कहा कि तू उसे मार दे, बाकि सब मैं देख लूंगा।

हत्या कर फरार हुई सौतेली मां  
योजना के तहत 17 फरवरी को दीवान गाड़ी लेकर चला गया। इसके बाद रमा ने यश से कहा कि टैंक से पानी ले आओ। लेकिन, टैंक में पानी कम था, यश का हाथ वहां तक नहीं पहुंच पा रहा था। रमा वहां पहुंची और यश से कहा कि मैं तुम्हें पैर पकड़कर लटका देती हूं, तुम पानी निकाल लेना। सौतेली मां के इरादे नहीं भाप पाया मासूम उसकी बातों में आ गए। रमा ने पैर पकड़कर उसे उलटा लटकाया और पानी में डुबो दिया। पानी में मुंह डूबने के कारण यश तड़पता रहा, लेकिन सौतेली मां रमा के हाथ नहीं कांपे, वह उसको तब तक लटकाए रही जब तक उसके शरीर में हलचल बंद नहीं हो गई। यश के मरने के बाद रमा ने उसे टैंक फैंका और लगाकर फरार हो गई। योजना के तहत 18 फरवरी को दीवान सिंह अपने पड़ोसी को बुलाकर घर लाया और टैंक में बच्चे का शव दिखाया। जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पीएम कराया और परिजनों को सौंप दिया।

पुलिस को किया गुमराह
मामले को लेकर पुलिस ने उस समय पिता से पूछताछ की तो उसने अलग ही कहानी सुनाई थी। पिता दीवान सिंह ने पुलिस को बताया था कि यश ने दोपहर में कॉल कर कहा कि वह गोवर्धन परिक्रमा करने जा रहा है। उसकी पत्नी भी घर पर नहीं थी। रात को यश नहीं आया तो मुझे लगा तक वह परिक्रमा करने ही गया है। लेकिन, सुबह उसका शव टैंक में पड़ा मिला। उधर, यश के मामा संतोष ने सौतेली मां और पिता पर ही हत्या करने के आरोप लगाए थे। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया तो पूछताछ में घटना का खुलासा हुआ। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *