ट्रैक्टर परेड हिंसा: सरकार पर बरसे शरद, किसानों से की घर वापस लौटने की अपील

नई दिल्ली
गणतंत्र दिवस (Republic Day 2021) परेड के बीच राजधानी में अलग-अलग जगहों पर प्रदर्शनकारी किसानों और पुलिस के बीच झड़प हो गई। भारी संख्या में प्रदर्शनकारी ट्रैक्टरों के साथ लाल किला पर पहुंच गई। इसके बाद प्रदर्शनकारी किसान लाल किले के भीतर घुस गए। प्रदर्शनकारियों ने लाल किले की प्राचीर से अपना पीले रंग का झंडा लहराया। राजधानी में आईटीओ में प्रदर्शनकारी किसान टैक्टरों से बैरिकेड तोड़ दिया। हंगामा बढ़ने पर पुलिस ने यहां किसानों पर लाठीचार्ज कर दिया। हालात को देखते हुए गृह मंत्री अमित शाह के घर पर उच्च स्तरीय बैठक हुई। यह बैठक करीब 2 घंटे तक चली। पूर्व कृषि मंत्री शरद पवार ने आज की घटना के मद्देनजर सरकार पर बरसते हुए किसानों से घर लौटने की अपील की है। उन्होंने कहा- 'आज जिस तरह से आंदोलन को हैंडल किया गया वह खेदजनक है। हम सभी विपक्ष में बैठे लोग किसानों का समर्थन करते हैं और मैं अपील करता हूं कि अब आप (किसानों) को अपने-अपने गांवों में शांति से वापस चले जाना चाहिए और सरकार को ऐसा कोई मौका नहीं देना चाहिए जिससे आप पर दोष मढ़ा जाए।'

हिंसा में कई जवान घायल
ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा पर दिल्ली पुलिस ने कहा कि किसानों ने परेड के लिए तय रूट नहीं माना। कई जगह पर सरकारी संपत्तियों को नुक्सान पहुंचाया गया। जिस तरह की घटनाएं सामने आई है उसको देखते हुए उपद्रवियों पर केस दर्ज किया जाएगा। आज हुई हिंसा में कई जवान घायल हुए हैं।

कुछ पुलिसकर्मी और मीडियाकर्मियों के घायल होने की खबर
पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े। भीड़ को काबू करने के दौरान पांच-छह पुलिसकर्मी जख्मी हो गए। वहीं, प्रदर्शनकारियों की तरफ से पुलिसवालों पर ट्रैक्टर चढ़ाने की कोशिश की गई। झड़प के बीच दो मीडियाकर्मी भी घायल हो गए हैं। वहीं कई प्रदर्शनकारियों को चोटें आई हैं। वहीं, एनएच-24 पर भी किसान रास्ते में बैरिकेड तोड़ अक्षरधाम मंदिर की तरफ बढ़ रहे हैं। रास्ते में प्रदर्शनकारियों ने हुड़दंग भी किया। इन लोगों पुलिस की गाड़ियों के शीशे भी तोड़ डाले। राजधानी के करनाल बाईपास पर प्रदर्शनकारी किसानों के साथ ही घुड़सवार निहंग पुलिस बैरिकेड पर टूट पड़े। किसानों व निहंगों ने पुलिस बैरिकेड तोड़फोड़ करते हुए खूब हंगामा किया। वहीं, पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े।

दिल्‍ली, नोएडा और गाजियाबाद में इंटरनेट बंद
किसानों की ट्रैक्‍टर रैली में हिंसा को देखते हुए इंटरनेट बंद कर दिया गया है। खबर के मुताबिक, उन सभी बॉर्डर एरियाज में जहां पर प्रदर्शन चल रहा है, रात 12 बजे तक इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। गृह मंत्रालय की तरफ से जारी आदेश के मुताबिक, सिंघु, गाजीपुर, टीकरी, मुकरबा चौक, नांगलोई और आसपास के इलाकों में इंटरनेट बंद कर दिया गया है। कोई URL खोलने पर यह मैसेज आ रहा है क‍ि 'सरकार के निर्देशानुसार, आपके क्षेत्र में इंटरनेट सेवा अगली सूचना आने तक बंद कर दी गई हैं।' मोबाइल इंटरनेट सेवा चल रही है। नांगलोई में प्रदर्शनकारी किसानों को रोकने के लिए पुलिसवाले खुद जमीन पर बैठ गए। यहां से किसानों के जत्थे नजफगढ़ की ओर तय रूट पर जाने की बजाय रोहतक रोड पर पीरागढ़ी की ओर बढ़ रहे हैं। बहादुरगढ़ से पीरागढ़ी मेट्रो सेवा तत्काल प्रभाव से बंद कर दी गई। पीरागढ़ी सहित इस रूट पर लगने वाले सभी स्टेशनों को बंद कर दिया गया है। प्रदर्शनकारी राजधानी के मकरबा चौक पर पुलिस के वाहन पर चढ़ गए। इसके बाद उन लोगों ने पुलिस के बैरिकेड हटा दिए।

दिल्ली मेट्रो ने इन स्टेशनों के गेट किए बंद
दिल्ली मेट्रो ने किसानों की ट्रैक्टर परेड और पुलिस के साथ प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प के बाद अपने कई स्टेशनों के गेट बंद कर दिए हैं। दिल्ली मेट्रो ने ट्वीट कर बताया कि समयपुर बादली, रोहिणी सेक्टर 18/19, हैदरपुर बादली मोड़, जहांगीर पुरी, आदर्शनगर, आजादपुर, मॉडल टाउन, जीटीबी नगर, विश्वविद्यालय, विधानसभा और सिविल लाइन्स, इंद्रप्रस्थ मेट्रो स्टेशन पर एंट्री और एग्जिट बंद कर दिए हैं। वहीं, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर पांडव नगर के निकट भी प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़प हो गई।  नोएडा के चिल्ला बॉर्डर पर स्टंट करने के दौरान एक ट्रैक्टर पलट गया। इसमें दो लोग घायल हो गए। बाद में लोगों ने मिलकर इसे सीधा खड़ा किया। ट्रैक्टर पलटने के बाद वहां कुछ देर के लिए अफरातफरी मच गई। इससे पहले ट्रैक्टर परेड निकाल रहे किसानों की सुबह दिल्ली पुलिस के साथ झड़प हो गई। प्रदर्शनकारी किसानों ने पुलिस की तरफ से लगाए गए बैरिकेडों को तोड़ दिया। इसके बाद किसान राजधानी में प्रवेश कर गए। इससे पहले किसानों की ट्रैक्टर रैली को रोकने के लिए राजधानी के करनाल बाईपास पर रातोंरात अस्थायी दीवार खड़ी कर दी गई। इससे पहले किसानों की ट्रैक्टर परेड के मद्देनजर दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने सोमवार को अलग से एक ट्रैफिक एडवाइजरी (Traffic Advisory On Republic Day) जारी करते हुए लोगों को आगाह किया है कि वे ट्रैक्टर परेड के रूट के आस-पास से ना गुजरें, वरना दिक्कत हो सकती है।

गाजियाबाद: टकराव के आसार देख रास्ता किया बंद
किसान ट्रैक्टर परेड यूपी गेट से अक्षरधाम तक ले जाने पर अड़े रहे। गतिरोध बना रहने के कारण सोमवार शाम दिल्ली पुलिस ने यूपी गेट बॉर्डर पर दिल्ली की तरफ से आने वाले रास्ते को बंद कर दिया। गाजियाबाद की तरफ आने वाले ट्रैफिक को गाजीपुर की तरफ से डायवर्ट किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.