करीमगंज में ईवीएम से संबंधित दुर्घटना पर पीठासीन अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई

करीमगंज में ईवीएम से संबंधित दुर्घटना पर तथ्यात्मक रिपोर्ट अतिरिक्त सावधानी के रूप में असम के पीएस 149 रतबरी में पुनर्मतदान के आदेश दिए गए

 Delhi.विधानसभा क्षेत्र संख्या 1 रतबरी (एससी) के मतदान संचालन दल 149- इंदिरा एम वी स्कूल के साथ 01 अप्रैल, 2021 को एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई। मतदान संचालन दल में एक पीठासीन अधिकारी तथा तीन मतदान कर्मचारी थे। एक पुलिस कॉन्स्टेबल तथा एक होमगार्ड सहित उनके साथ पुलिस के जवान भी थे।
  1. 1800 बजे मतदान सम्पन्न होने के बाद मतदान संचालन दल पुलिस सेक्टर अधिकारी एबीएसआई लुहित गोहैन के नेतृत्व में एक सशस्त्र स्कॉट की पहरेदारी में एक काफिले में लौट रहा था। 01 अप्रैल को मौसम खराब था तथा भारी वर्षा के कारण सड़कों पर कीचड़ फैला हुआ था।
  2. जिले के दूरस्थ क्षेत्रों से करीमगंज के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग 8 ही एक मात्र मुख्य सड़क है। चूंकि उस दिन मतदान था और मतदान 1800 बजे पूरा हुआ था इसलिए लगभग 1300 वाहन उस एकमात्र राजमार्ग पर चल रहे थे क्योंकि सभी मतदान संचालन दल 1800 बजे के बाद करीमगंज लौट रहे थे। खराब मौसम के साथ-साथ इस वजह से भी राजमार्ग पर अभूतपूर्व भीड़-भाड़ की स्थिति पैदा हो गई थी।
  3. जब उपरोक्त उल्लेखित मतदान संचालन दल नीलम बाजार के निकट पहुंचा तो वह वाहन जो डीसी कार्यालय की चुनाव शाखा के परिवहन प्रकोष्ठ द्वारा आवंटित किया गया था और जिसमें मतदान संचालन दल सवार थे, 01 अप्रैल, 2021 को लगभग रात्रि 2100 बजे खराब हो गया। ट्रैफिक की भीड़-भाड़ तथा व्याप्त मौसम की स्थितियों के कारण दल अपने काफिले से अलग हो गया। दल वाहन से उतरा और सेक्शन अधिकारी श्री अजय सूत्रधार से उनके फोन पर बातचीत की तथा उन्हें इसकी जानकारी दी। जब सेक्टर अधिकारी किसी वैकल्पिक वाहन की व्यवस्था में लगे थे, मतदान संचालन दल ने खुद से एक वाहन की व्यवस्था करने का निर्णय किया जिससे कि जल्दी से मैटेरियल रिसेप्शन सेंटर पर पहुंचा जा सके क्योंकि उनके संरक्षण में मतदान हो चुके ईवीएम थे।
  4. लगभग 2120 बजे मतदान संचालन दल ने नजदीक से गुजरते एक वाहन को आवाज दी तथा वे नंबर एसएस-10बी-0022 वाले उस वाहन के मालिक की जांच किए बिना अपने ईवीएम तथा अन्य सामानों के साथ सवार हो गए। जैसे कि मतदान संचालन दल द्वारा रिपोर्ट की गई, वे लगभग 2200 बजे करीमगंज के कनयसिल पहुंचे और ट्रैफिक के कारण उनके वाहन की रफ्तार धीमी हो गई। जब उनके वाहन की रफ्तार धीमी हो गई तो लगभग 50 व्यक्तियों की एक भीड़ ने उन्हें घेर लिया और उनपर पत्थर बरसाने लगे। भीड़ ने उन्हें गालियां देनी भी शुरू कर दी और उनके वाहन को वहां से गुजरने से रोक दिया। जब उन्होंने भीड़ के नेता से बातचीत की तो उसने जवाब दिया कि यह वाहन श्री कृष्णेन्दु पॉल की है जो पड़ोसी चुनाव सभा क्षेत्र का चुनाव लड़ रहा एक उम्मीदवार है और उसने आरोप लगाया कि ईवीएम छेड़छाड़ करने के लिए ले जायी जा रही है।

तब जाकर उन्होंने महसूस किया कि कुछ गड़बड़ है और उन्होंने सेक्टर अधिकारी को सावधान किया। बहरहाल, तब तक एक बड़ी भीड़ जमा हो चुकी थी जिसने उन पर हमला किया तथा यह आरोप लगाते हुए कि ईवीएम छेड़छाड़ करने के लिए ले जाई जा रही है, भीड़ द्वारा वाहन में रखे ईवीएम के साथ-साथ उन्हें भी बंधक बना लिया गया।

  1. इस घटना के बारे में जानकारी प्राप्त होने के तत्काल बाद करीमगंज के डीईओ करीमगंज के एसपी के साथ घटना स्थल के लिए रवाना हुए तथा वहां 2220 बजे पहुंचे। इसके अतिरिक्त इस बीच वाहन के स्वामित्व का पता लगाया गया और इसे पथरकंडी विधानसभा क्षेत्र संख्या 2 के चुनाव लड़ रहे उम्मीदवार श्री कृष्णेन्दु पॉल की पत्नी श्रीमती मधुमिता पॉल के नाम पर पंजीकृत पाया गया। घटना स्थल पर पहुंचने पर यह देखा गया कि भीड़ मतदान संचालन दल को खींच रही है तथा उन पर हमला करने वाली है। भीड़ हिंसक हो चुकी थी और उसने पत्थर फेंककर वाहन के शीशों को नुकसान पहुंचा दिया था। पत्थर फेंके जाने के दौरान करीमगंज के एसपी के गले की हड्डी पर मामूली चोट आई और भीड़ को तितर-बितर करने के लिए ब्लैंक फायरिंग का सहारा लिया गया। इस हंगामे में प्रथम मतदान अधिकारी गायब पाया गया, ईवीएम तथा शेष मतदान संचालन दल को सुरक्षापूर्वक क्षेत्र से बाहर निकाल लाया गया तथा 2320 बजे डीईओ के नियंत्रण में ले आया गया।

जांच किए जाने पर बीयू, सीयू तथा वीवीपीएटी से निर्मित मतदान किया गया ईवीएम बिना किसी नुकसान के सीलबंद पाया गया। सभी वस्तुओं को स्ट्रांग रुप में जमा कर दिया गया है

  1. प्रथम मतदान अधिकारी 02 अप्रैल, 2021 की सुबह तक गायब रहा जो नजदीक की झाड़ियों में छुप गया था और पूरी रात खोज कार्रवाई जारी रही। इसकी वजह से इस रिपोर्ट को भेजे जाने में कुछ घंटों की देरी हुई।
  2. इस संबंध में पीठासीन अधिकारी को परिवहन प्रोटोकॉल उल्लंघन के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। इसके बाद, पीओ तथा तीन अन्य अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है। हालाकि ईवीएम के सीलबंद पाये गये फिर भी अतिरिक्त सावधानी के रूप में विधानसभा चुनाव क्षेत्र रतबरी (एससी) की संख्या 149 इंदिरा एम वी स्कूल पर फिर से मतदान कराने का फैसला किया गया है। विशेष पर्यवेक्षक से एक रिपोर्ट भी मांगी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *