21.23 लाख जांचों के साथ, भारत ने पिछले 24 घंटों में सबसे अधिक जांच करने का एक बार फिर नया कीर्तिमान बनाया

Delhi-21.23 लाख से अधिक जांचों के साथ, भारत ने पिछले 24 घंटों में सबसे अधिक जांच करने का एक बार फिर नया कीर्तिमान बनाया है। लगातारपांच दिनों में दैनिक 20 लाख से अधिक जांचें भी की गई हैं। भारत ने जांच करने की अपनी क्षमता जनवरी, 2020 की तुलना में उल्लेखनीय रूप से बढ़ाकर अब 25 लाख जांच प्रति दिन कर ली है।

पिछले 24 घंटों में, कुल मिला कर, देश में 21,23,782 जांचें की गई हैं।

गिरावट की दिशा में बढ़ते हुए, दैनिक पॉजिटिविटी दर कम हो कर 11.34 प्रतिशत पर आ गई है।

दैनिक पॉजिटिविटी दर (7 दिन मूविंग औसत) नीचे दर्शाई गई है। 10 मई के बाद यह सबसे नीचे पाई गई है।

एक अन्य सकारात्मक घटनाक्रम में, भारत ने अब लगातार सातवें दिन तीन लाख से कम दैनिक नए मामले दर्ज कराये हैं।

पिछले 24 घंटों में, 2,40,842 दैनिक नए मामले दर्ज कराये गए। 17 अप्रैल, 2021 के बाद से यह सबसे कम संख्या है, जब दैनिक नए मामले 2.34 लाख थे।

भारत की दैनिक रिकवरी लगातार नौवें दिन दैनिक नए मामलों की तुलना में अधिक रही। पिछले 24 घंटों में, 3,55,102 रिकवरी दर्ज की गई।

भारत की कुल रिकवरी अब 2,34,25,467 हो गई है। राष्ट्रीय रिकवरी दर बढ़कर 88.30 प्रतिशत हो गई है।

दूसरी तरफ, भारत के कुल सक्रिय मामलों की संख्या गिरकर आज 28,05,399 पर आ गई।

पिछले 24 घंटों में, 1,18,001 की शुद्ध गिरावट दर्ज की गई है। अब यह देश के कुल पॉजिटिव मामलों की 10.57 प्रतिशत है।

भारत के कुल सक्रिय मामलों के 66.88 प्रतिशत में कुल सात राज्यों की भागीदारी है।

राष्ट्रीय मृत्यु दर वर्तमान में 1.13 प्रतिशत है।

पिछले 24 घंटों में, 3,741 मौतें दर्ज की गईं।

नई मौतों के 73.88 प्रतिशत में दस राज्यों की भागीदारी है। महाराष्ट्र में सर्वाधिक (682) मौतें दर्ज की गई। 451 दैनिक मौतों के साथ कर्नाटक दूसरे स्थान पर रहा।

राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण के तहत देश में लगाये गए कोविड-19 टीकों की कुल संख्या आज लगभग 19.50 करोड़ से अधिक हो चुकी है।

आज सुबह 7बजे की अस्थायी रिपोर्ट के अनुसार,28,00,808 सत्रों के जरिये कुल मिला कर 19,50,04,184 टीके लगाये जा चुके हैं। इनमें  97,52,900 एचसीडब्ल्यू शामिल हैं जिन्होंने पहली खुराक ली है जबकि 67,00,614 एचसीडब्ल्यू ने दूसरी खुराक प्राप्त की है,1,49,52,345 एफएल्डब्ल्यू (पहली खुराक)83,26,534 एफएल्डब्ल्यू (दूसरी खुराक),18-44 आयु समूह के  99,93,908 लाभार्थियों ने पहली खुराक,45 से 60 वर्ष की आयु के बीच के 6,06,90,560 लाभार्थियों ने पहली खुराक तथा 97,87,289 लाभार्थियों ने दूसरी खुराक प्राप्त की है। 60 वर्ष से अधिक आयु के 5,65,55,558 लाभार्थियों ने पहली खुराक तथा 1,82,44,476 लाभार्थियों ने दूसरी खुराक प्राप्त की है।

एचसीडब्ल्यू पहली खुराक 97,52,900
दूसरी खुराक 67,00,614
एफएल्डब्ल्यू पहली खुराक 1,49,52,345
दूसरी खुराक 83,26,534
18-45 आयु समूह पहली खुराक 99,93,908
45 से 60 वर्ष के बीच का आयु समूह पहली खुराक 6,06,90,560
दूसरी खुराक 97,87,289
60 वर्ष से अधिक पहली खुराक 5,65,55,558
दूसरी खुराक 1,82,44,476
कुल   19,50,04,184

देश में लगाये गए कुल टीकों के 66.27 प्रतिशत में दस राज्यों की भागीदारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *