गांधी जी के विचारों को आचरण में उतारने से ही है जीवन की सार्थकता : मुख्यमंत्री श्री चौहान

भोपाल :मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि महात्मा गांधी जी के विचारों को आचरण में उतारने से ही है जीवन की सार्थकता है। गांधी जी और परम-पूज्य गुरुदेव के बताए मार्ग पर चल कर मनुष्य अपने भाग्य का निर्माता बन सकता है। मुख्यमंत्री श्री चौहान गांधी जयंती के अवसर पर रवींद्र भवन में आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत आयोजित राष्ट्रीय महात्मा गांधी सम्मान अलंकरण समारोह और “एकै राम रहीम” भजन संध्या को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने गांधी विचार दर्शन के अनुरूप कार्य करने वाली दो संस्थाओं को राष्ट्रीय महात्मा गांधी सम्मान से सम्मानित किया। वर्ष 2019 के लिए हरिद्वार की संस्था अखिल विश्व गायत्री परिवार और वर्ष 2020 के लिए उस्मानाबाद की संस्था भटके विमुक्त विकास प्रतिष्ठान को सम्मान प्रदान किया गया। संस्कृति, पर्यटन एवं आध्यात्म मंत्री सुश्री उषा ठाकुर, अखिल विश्व गायत्री परिवार (हरिद्वार) के डॉ. चिन्मय पंडया, भटके विमुक्त विकास प्रतिष्ठान की अध्यक्ष डॉ. सुवर्णा रावल, प्रमुख सचिव संस्कृति श्री शिव शेखर शुक्ला, संचालक संस्कृति श्री अदिति कुमार त्रिपाठी सहित गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने राष्ट्रीय महात्मा गांधी सम्मान में प्रत्येक संस्था को दस लाख रुपये की आयकर मुक्त राशि, सम्मान पट्टिका, शॉल और श्रीफल भेंट कर अखिल विश्व गायत्री परिवार के डॉ. चिन्मय पंडया एवं भटके विमुक्त विकास प्रतिष्ठान की अध्यक्ष डॉ. सुवर्णा रावल को सम्मानित किया। राष्ट्रीय महात्मा गांधी सम्मान किसी भी संस्था को सामाजिक कार्य क्षेत्र में प्रदान किये जाने वाला राज्य का महत्वपूर्ण सम्मान है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि दोनों संस्थाओं को सम्मान देकर मध्यप्रदेश शासन गौरवान्वित महसूस कर रहा है। अखिल विश्व गायत्री परिवार हमारा अपना परिवार है। मुझे यह कहने में गर्व है कि परम-पूज्य गुरुदेव की कृपा से ही मैं नई ऊर्जा लेकर अपना कार्य कर पा रहा हूँ। उन्होंने कहा कि गुरूदेव का आशीर्वाद सदैव उनके साथ रहता है। भले ही गुरुदेव आज हमारे बीच नहीं हैं लेकिन उनका आशीर्वाद हमें लगातार मिलता रहेगा। उनके बताए मार्ग पर चलकर करोड़ों भाई-बहन अपने कर्त्तव्य पथ पर आगे बढ़ रहे हैं। इसी तहर गुरुदेव हम सभी को सन्मार्ग पर चलने की शक्ति दें।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि घुमंतू जनजातियों के विकास के लिए प्रदेश सरकार कटिबद्ध है। विगत दिनों घुमंतू परिवारों की मुख्यमंत्री निवास पर पंचायत बुलाई गई थी, जिसमें उनके कल्याण के लिए रुपरेखा बनाई गई थी। उनके कल्याण के लिए राज्य सरकार निरंतर प्रयास करती रहेगी। उन्होंने कहा कि सरकार के कार्यों में समाज का सहयोग आवश्यक है। प्रदेश के विकास के लिए समाज की जागृति जरूरी है। गायत्री परिवार समाज को जागृत करने में अपनी अहम भूमिका निभा रहा है। उन्होंने कहा कि मैंने प्रतिदिन एक पेड़ लगाने संकल्प लिया है। इसी तरह अन्य लोगों को भी प्रण लेकर कार्य करना चाहिए।

संस्कृति मंत्री सुश्री उषा ठाकुर ने कहा कि गांधी दर्शन पर कार्य करने वाली संस्थाओं को सम्मानित करने के लिए मध्यप्रदेश सरकार कटिबद्ध है। मुख्यमंत्री श्री चौहान महिलाओं के स्वावलंबन के लिए निरंतर प्रयास कर रहे हैं। कार्यक्रम में डॉ. चिन्मय पंडया, डॉ. सुवर्णा रावल ने विचार रखकर अपनी संस्थाओं की जानकारी से अवगत कराया। प्रमुख सचिव संस्कृति श्री शिव शेखर शुक्ला ने संस्थाओं को दिए गए प्रशस्ति-पत्र का वाचन किया। संस्कृति संचालक श्री अदिति कुमार त्रिपाठी ने कार्यक्रम की रूपरेखा पर प्रकाश डाला।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मध्यप्रदेश में गांधी जी की यात्राओं पर केन्दित फोटो एलबम का विमोचन किया। उन्होंने महिला स्व-सहायता समूह कला एवं उद्यमिता धार द्वारा निर्मित हेरीटेज साड़ी का लोकार्पण किया। गायत्री परिवार के डॉ. पंडया ने मुख्यमंत्री श्री चौहान और संस्कृति मंत्री सुश्री ठाकुर को गंगा जल और चित्र देकर सम्मानित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *