सवारियों ने चेताया पर चालक ने एक नहीं सुनी, कच्ची सड़क पर बस चला मौत के मुंह में झोंक दी जिंदगियां

कुल्लू
कुल्लू जिले के सैंज में बस हादसा चालक की लापरवाही की वजह से पेश आया है। चालक ने बस अचानक कच्ची सड़क पर निकाल दी। सड़क धंसने से बस खाई में गिर गई। जिस स्थान पर यह हादसा पेश आया है। वहां सड़क थोड़ी खराब थी। भूस्खलन होने की वजह से सड़क पर मलबा गिरा हुआ था। गंतव्य तक पहुंचने की जल्दी में चालक ने बस कच्ची सड़क पर निकाल दी। सवारियों ने बस चालक को सड़क की हालत के बारे में चेताया था, लेकिन उसने किसी की नहीं सुनी। वहीं उपायुक्त कुल्लू आशुतोष गर्ग ने हादसे की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बस हादसे पर गहरा शोक जताते हुए हादसे में मारे गए लोगों के स्वजनों को दो दो लाख रुपये व घायलों को 50-50 हजार रुपये की फौरी राहत राशि देने की घोषणा की है।

खाई में गिरने से बस पूरी तरह से पिचक गई। इससे अंदर बैठे लोगों को संभलने का मौका नहीं मिला। उनकी दबने से मौत हो गई। हादसे का पता चलते ही स्थानीय लोगों ने मौके पर पहुंच राहत एवं बचाव कार्य शुरु किया, लेकिन बस के बुरी तरह पिचकने की वजह से कुछ नहीं कर पाए। लोगों ने थाना सैंज व प्रशासन को हादसे की सूचना दी। करीब एक घंटे बाद पोकलेन व जेसीबी की व्यवस्था हुई। इसके बाद पोकलेन से बस के छत को अलग कर अंदर फंसे शवों को बाहर निकाला गया। बस में ज्यादातर लोग सरकारी कर्मचारी व विद्यार्थी सवार थे। हादसे में मारे गए ज्यादातर लोग तुंग गांव के रहने वाले हैं। नेपाल मूल के मां बेटे की भी मौत हुई है।

हादसे में मारे गए लोग
तनु पुत्री चंद गांव तुंग, प्रेम चंद पुत्र ज्ञान चंद गांव वागिशाडी, फत्ते चंद पुत्र झोका राम गांव तुंग, अनिता देवी पुत्री जीत राम गांव धारठा, सुशील कुमार पुत्र नीयत राम गांव तुंग, खीमदासी पत्नी टेक राम गांव रियाहड़ा, रोशी देवी पत्नी दुनी चंद गांव सेरी, अमित कुमार पुत्र कमलेशरी गांव जामरा, पावर्ती देवी पत्नी प्रेम चंद गांव तुंग, झावलू देवी पत्नी अजवीर गांव वजाहरा, आकाश पुत्र पंच बहादुर, राशी पत्नी पंच बहादूर गांव रांगसे जिला रुकन नेपाल शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.