लोहरदगा पहुंचे केंद्रीय ग्रामीण विकास सचिव एनएन सिन्हा, विकास कार्यों की कर रहे समीक्षा

लोहरदगा
केंद्रीय ग्रामीण विकास सचिव एनएन सिन्हा सोमवार को लोहरदगा पहुंचे। सबसे पहले लोहरदगा जिला परिसदन में उपायुक्त डा वाघमारे प्रसाद कृष्ण ने केंद्रीय ग्रामीण विकास सचिव का स्वागत किया। इसके बाद जिला परिषद सभागार में सचिव ने जिला प्रशासन के विभिन्न विभागों के पदाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक शुरू कर दी है। बैठक में जिला परिषद, ग्रामीण विकास विभाग ग्रामीण कार्य प्रमंडल, ग्रामीण विकास विशेष प्रमंडल, पथ निर्माण विभाग पथ अवर प्रमंडल, लघु सिंचाई प्रमंडल, बिजली विभाग, उद्यान विभाग, कृषि विभाग, स्वास्थ्य विभाग, समेकित जनजाति विकास अभिकरण सहित अन्य विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की जा रही है। इससे पहले जिला परिषद कार्यालय परिसर स्थित सभागार में केंद्रीय ग्रामीण विकास सचिव एनएन सिन्हा के पहुंचने पर लोहरदगा उप विकास आयुक्त गरिमा सिंह ने सचिव का बुके देकर परंपरागत रूप से स्वागत किया।

सचिव के साथ तीन पदाधिकारी भी
सचिव के साथ तीन अन्य पदाधिकारी भी पहुंचे हुए हैं। एक-एक विभाग की क्रमवार रूप से समीक्षा हो रही है। समीक्षा के दौरान केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं की स्थिति और उपयोगिता को लेकर गहनता के साथ समीक्षा की जा रही है। विशेषकर केंद्र प्रायोजित योजनाओं की समीक्षा केंद्रीय ग्रामीण विकास सचिव कर रहे हैं। बैठक में तमाम विभाग के अधिकारी मौजूद हैं। बता दें कि केंद्र सरकार की विभिन्न योजनाओं को गति देने के लिए सचिव स्तर के पदाधिकारी लगातार झारखंड का दौरा कर रहे हैं। जिसके बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि राज्य के सभी जिलों में विकास योजनाओं खासकर ग्रामीण क्षेत्रों के लिए तैयार योजनाओं को आमजनों तक पहुंचाने की कवायद की जा रही है। हालांकि इस संबंध में उच्च पदस्थों ने कुछ नया अपडेट अबतक नहीं किया है। लेकिन जो बातें छनकर सामने आ रही है उससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि केंद्र सरकार की योजनाओं के साथ साथ जिला परिषद, ग्रामीण विकास विभाग ग्रामीण कार्य प्रमंडल, ग्रामीण विकास विशेष प्रमंडल, पथ निर्माण विभाग पथ अवर प्रमंडल, लघु सिंचाई प्रमंडल, बिजली विभाग, उद्यान विभाग, कृषि विभाग, स्वास्थ्य विभाग, समेकित जनजाति विकास अभिकरण सहित अन्य विभाग की योजनाओं का गति दिए जाने काे ले लगातार दिशा निर्देश दिए जा रहे हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.