संजय राउत बोले- बागी विधायकों का जनता के बीच जाना मुश्किल

मुंबई
महाराष्ट्र में बदले सियासी हालात के बीच वार-पलटवार का दौरा जारी है। राज्यसभा सांसद और शिवसेना नेता संजय राउत लगातार मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे कैंप के विधायकों पर हमला बोल रहे हैं। संजय राउत ने एक बार फिर बागी विधायकों पर बड़ा हमला बोला है। साथ ही उन्होंने भाजपा को भी आड़े हाथ लिया। राउत ने कहा कि पार्टी को तोड़ने की कोशिश की गई है। बागी विधायक शिवसेना के नाम पर चुनकर आए थे। राउत ने कहा, 'बदले की भावना से हमारी पार्टी को तोड़ने की कोशिश की गई। पार्टी को कमजोर करने की कोशिश की जा रही है।' राउत ने ये भी कहा कि विधायकों का जाना अस्थाई है। हम दोबारा चुनकर आएंगे और काम करेंगे। राउत ने आगे कहा कि हम फिर काम शुरू करेंगे। हम गांव-गाव जाएंगे और कार्यकर्ताओं से मिलेंगे, लेकिन जिन्होंने बगावत की उनका गावं-गांव जाना मुश्किल है।

'कसाब को भी बागी विधायकों जैसी सुरक्षा नहीं'
राउत ने बागी विधायकों पर तंज भी कसा। उन्होंने कहा कि जब वे शिवसेना में थे तब शेर थे, लेकिन उन्हें आतंकी कसाब से भी ज्यादा सुरक्षा दी गई। शिवसेना को तोड़ने की कोशिश की गई है। विधायकों का जाना अस्थाई है।

अस्थाई है भाजपा और शिंदे गुट का गठबंधन
राउत ने कहा कि भाजपा और शिंदे गुट का गठबंधन एक अस्थायी व्यवस्था है, वे लोगों के पास नहीं जा सकेंगे। हमारी पार्टी कमजोर नहीं होगी, आक्सीजन हमारी शक्ति नहीं है। हम इसीलिए मजबूत नहीं हैं क्योंकि हम सत्ता में हैं, हम मजबूत हैं इसलिए हम सत्ता में हैं। लोग आते हैं और जाते हैं। उन्होंने हमारी पार्टी में शामिल होने का विकल्प चुना और बाहरी ताकतों के कारण चले गए।

6 महीने में गिर जाएगी सरकार- शरद पवार
उधर, एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने बड़ा दावा किया है। शरद पवार ने दावा किया है कि कि एकनाथ शिंदे सिर्फ अगले 6 महीने तक मुख्‍यमंत्री पद पर रहेंगे। इसके बाद महाराष्‍ट्र में मध्‍यावधि चुनाव होंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और शिवसेना समेत सभी पार्टियों को चुनाव के लिए तैयार रहना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.